Tuesday, June 25, 2019

भारत का इतिहास भाग 3

भारत का इतिहास भाग 3


कौन-सा शहर चोल राजाओं की राजधानी था — तंजौर

·        श्रीलंका पर विजय प्राप्त करने वाला प्रसिद्ध राजा कौन था — राजेंद्र I

·        तंजौर में स्थित राजराजेश्वर मंदिर का निर्माण किसने कराया — राजराजा प्रथम

·        किस राष्ट्रकूट शासक ने पहाड़ी काटकर एलौरा के विश्वविख्यात कैलाश नाथ मंदिर का निर्माण कराया — कृष्ण प्रथम ने

·        राष्ट्रकूट साम्राज्य का संस्थापक कौन था — दंतिदुर्ग

·        किस राजवंश ने श्रीलंका व दक्षिण पूर्व एशिया को जीता — चोल वंश

·        विरुपाक्ष मंदिर का निर्माण किसने कराया — चालुक्य

·        पल्लवों का एकाश्मीय रथ कौन-सी जगह मिला — महाबलिपुरम्

·        होयसल की राजधानी कहाँ थी — द्वारसमुद्र

·        यादव सम्राटों की राजधानी कहाँ थी — देवगिरि

·        किस शासक ने अरब सागर में भारतीय नौसेना की सर्वोच्चता स्थापित की — राजराजा प्रथम

·        पांड्य साम्राज्य की राजधानी कहाँ थी — मदुरै

·        ऐहोल का लाढखाँ मंदिर किस देवता का है — सूर्य देवता

·        माम्मलपुरम् किसका समानार्थी है — महाबलिपुरम्

·        किस वंश के शासक के पास एक शक्तिशाली नौसेना थी — चोलवंश

·        भगवान नटराज का प्रसिद्ध मंदिर कहाँ स्थित है — चिदंबरम्

·        राष्ट्रकूटों का पतन किसने किया — तैलप II

·        प्रशासन के क्षेत्र में चोल वंश की मुख्य देन क्या थी — सुसंगठित स्थानीय स्वशासन

·        तीन मुख वाली ब्रह्मा, विष्णु व महेश की मूर्ति कहाँ स्थित है — ऐलीफैंट गुफा में

·        ‘महाभारत’ का ‘भारत वेणता’ के नाम से किसने तमिल भाषा में अनुवाद किया — पेरुंदेवनार ने

·        राजेंद्र चोल द्वारा बंगाल अभियान के समय बंगाल का शासक कौन था — महिपाल I

·        ‘चालुक्य विक्रम संवत्’ का शुभारंभ किसने किया — विक्रमाद्वित्य VI ने

·        पल्लवों की राजभाषा क्या थी — संस्कृत

·        12वीं सदी के राष्ट्रकूट वंश के पाँचशिला लेख किस राज्य में मिले — कर्नाटक

·        कौन-से राजवंश के शासक अपने शासन काल में उत्तराधिकारी नियुक्त कर देते थे — चोल वंश

·        दक्षिणी भारत का तक्कोलम का युद्ध किस-किस के मध्य हुआ — चोल वंश व राष्ट्रकूटों के मध्य

·        द्रविड़ शैली के मंदिरों में ‘गोपुरम’ का क्या अर्थ है — तीरण के ऊपर बने अलंकृत एवं बहुमंजिला भवन

·        चोलों को राज्य कहाँ तक फैला था — कोरोमंडल तट व दक्कन के कुछ भाग तक

·        चोल शासकों के समय बनी प्रतिमाओं में सबसे विख्यात कौन-सी प्रतिमा थी — नटराज शिव की कांस्य प्रतिमा

·        चोल युग किसके लिए प्रसिद्ध था — ग्रामीण सभाओं के लिए

·        किस राजवंश का काल कन्नड़ साहित्य की उत्पत्ति का काल माना जाता है — राष्ट्रकूट

·        होयसल स्मारक कहाँ है — मैसूर व बैंगालूरू में

·        चोलों द्वारा किसके साथ घनिष्ठ राजनीति तथा वैवाहिक संबंध स्थापित किए गए — वेंगी के चालुक्य

·        चोल काल में निर्मित नटराज की कांस्य प्रतिमाओं में देवाकृति कैसी थी — चतुर्भज

·        चोल साम्राज्य का संस्थापक कौन था — विजयपाल

·        रुद्रंवा किस राजवंश की प्रसिद्ध महिला शासक थी — काकतीय राजवंश की

·        राजराजा प्रथम का मूल नाम क्या था — अरिमोल वर्मन

·        चोलयुग में ‘कडिमै’ का अर्थ क्या था — भू-राजस्व/लगान

·        तंजौर में स्थित राजराजेश्वर मंदिर किस देवता का है — शिव का

·        चोल युग में किसने ‘हिरण्यगर्भ’ नामक त्यौहार का आयोजन किया — लोकमहादेवी ने

·        चोल युग में सोने के सिक्के क्या कहलाते थे — कुलंजु

·        चोल युग में युद्ध में विशेष पराक्रम दिखाने वाले योद्धा को कौन-सी उपाधि दी जाती थी — क्षत्रिय शिखमणि

·        पुलकेशिन द्वितीय किसके समकालीन था — हर्षवर्धन

·        काँची के कैलाशनाथ मंदिर का निर्माण किसने कराया — नरसिंह वर्मन II

·        होयसल वंश का अंतिम शासक कौन था — बल्लालIII

·        चोल राजाओं ने किस धर्म को संरक्षण प्रदान किया — शैवधर्म को

·        ‘विचित्र चित्त’ की उपाधि किस पल्लव वंश के शासक ने धारण की — महेंद्र वर्मन II

·        चोलवंश का संस्थापक विजयपाल पहले किसका सामंत था — पल्लवों को

·        ‘शृंगार्थ दीपिका’ की रचना किसने की — वेंकट माधव ने

·        तैलप II ने किस नदी में आत्महत्या की थी — तुंगभद्र नदी में



·        भारत में मुस्लिम शासन की नींव किसने डाली — मोहम्मद गौरी

·        मोहम्मद गौरी का अंतिम आक्रमण किसके विरुद्ध था — पंजाब के खोखर

·        भारत में गुलाम वंश की स्थापना किसने की — 1206ई. में कुतुबुद्दीन ऐबक ने

·        दिल्ली सल्तनत की दरबारी भाषा क्या थी — फारसी

·        आगरा शहर का निर्माण किसने कराया — सिकंदर लोदी ने

·        किस सुलतान की मृत्यु ‘चौगान’ खेलते समय हुई — कुतुबुद्दीन ऐबक

·        कुव्वत-उल-इस्लाम मस्जिद का निर्माण किसने कराया — कुतुबुद्दीन ऐबक

·        ‘कुतुबमीनार’ कहाँ स्थित है — दिल्ली

·        ‘कुतुबमीनार’ का शुभारंभ किसने किया — कुतुबुद्दीन ऐबक

·        ‘कुतुबमीनार’ को पूरा किसने करवाया — इल्तुतमिश ने

·        रजिया सुल्तान किसी बेटी थी — इल्तुतमिश

·        किसके शासन काल में सबसे अधिक मगोल अक्रमण हुए — अलाउद्दीन खिलजी

·        सांकेतिक मुद्रा का चलन किसने किया — मोहम्मद बिन तुगलक

·        किस सुल्तान को इतिहासकारों ने विरोधों का मिश्रण कहा — मोहम्मद बिन तुगलक

·        लोदी वंश का अंतिम शासक कौन था — इब्राहिम लोदी

·        ‘इनाम’ भूमि किसे दी जाती थी — विद्धान एवं धार्मिक व्यक्ति को

·        दिल्ली की गद्दी पर बैठने वाली प्रथम महिला शासक कौन थी — रजिया सुल्तान

·        दिल्ली के किस सुल्तान ने दक्षिणी भारत को पराजित करने का प्रयास किया — अलाउद्दीन खिलजी

·        विदेशी यात्री इब्नबतूता कहाँ से आया था — मोरक्को से

·        इब्नबतूता किसके शासन में भारत आया — मोहम्मद बिन तुगलक

·        किस शासक ने अपने आप को ‘खलीफा’ घोषित किया — मुबारकशाह खिलजी

·        खिलजी वंश की स्थापना कब व किसने की — 13जून, 1290 ई. को जलालुद्दीन फिरोज खिलजी ने

·        भारतीय इतिहास में बाजार/मूल्य नियंत्रण पद्धति की शुरुआत किसके द्वारा की गई — अलाउद्दीन खिलजी

·        अलबरुनी का पूरा नाम क्या था — अबूरैहान मुहम्मद

·        ‘11 वीं सदी के भारत का दर्पण’ किसे कहा जाता है — किताब उल-हिंद

·        दिल्ली सल्तन के किस शासक ने स्थायी सेना बनाई — अलाउद्दीन खिलजी

·        ‘गुलऊखी’ के उपनाम से कौन-सा शासक कविताएँ लिखत था — सिकंदर लोदी

·        अलाई दरवाजा किसका मुख्य द्वार है — कुतुबमीनार का

·        जलालुउद्दीन फिरोज खिलजी की हत्या किसने की — अलाउद्दीन खिलजी ने

·        अलाउद्दीन के आक्रमण के समय देवगिरि का शासक कौन था — रामचंद्र देव

·        सल्तनत काल में भू-राजस्व का सर्वोच्च ग्रामीण अधिकारी कौन था — मलिक

·        तैमूर लंक ने भारत पर आक्रमण कब किया — 1398 ई.

·        किस सुल्तान के दरबार में सबसे अधिक गुलाम थे — बलबन

·        किस सुल्तान ने बेरोजगारों को रोजगार दिया — फिरोजशाह तुगलक

अगर आप ऐसी और जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तथा सरकारी नौकरी और करंट अफेयर( तत्कालिक घटनाएं) के बारे में  जानना चाहते हैं तो आप टेलीग्राम पर t.me/sarkari1 या @sarkari1 सर्च कर सकते हैं |

धन्यवाद 

No comments:

Post a Comment